चंदा मामा दूर के पे होने लगी खनिज संसाधनों के लिए देशों के बीच जोखिम भरी प्रतिस्पर्धा

जौनपुर

 23-05-2022 08:47 AM
खनिज

आधी सदी से भी पहले स्पुतनिक (Sputnik) और अपोलो (Apollo) अंतरिक्ष अभियान के युग की तरह, इस बार दुनिया के अग्रणी, अमेरिका (United States of America) और चीन (China) बाहरी अंतरिक्ष में प्रभुत्व हासिल करने के लिए फिर से प्रतिस्पर्धा कर रहे हैं। जबकि अमेरिका और सोवियत संघ (Russia) ने संयुक्त राष्ट्र (United Nations) में नियमों का एक सामान्य समूह तैयार किया था, इस बार दुनिया की ये शीर्ष महाशक्तियां अगली पीढ़ी की अंतरिक्ष गतिविधि को नियंत्रित करने के लिए बुनियादी सिद्धांतों पर भी सहमत नहीं हो सकी हैं।एक ऐसे युग में जहां विश्व अधिक सघन हो रहा है, अंतरिक्ष अन्वेषण पर अमेरिका और चीन के बीच सहयोग की कमी काफी खतरनाक साबित हो सकती है।
रवांडा (Rwanda) और फिलीपींस (Philippines) जैसे उभरते बाजारों के साथ एलोन मस्क (Elon Musk) और जेफ बेजोस (Jeff Bezos) जैसे अरबपति डिजिटल डिवाइड (Digital divide)के अंतर को खत्म करने और वाणिज्यिक अवसरों का पता लगाने के लिए अधिक से अधिक उपग्रह छोड़े जा रहे हैं।जब अमेरिका और चीन की बात आती है तो दांव और भी अधिक हो जाते हैं, जो राष्ट्रीय सुरक्षा के नाम पर आर्थिक बाधाओं को उत्पन्न कर रहे हैं, क्योंकि वैचारिक विभाजन महामारी, राजनीतिक दमन और अब रूस और यूक्रेन के मध्य युद्ध की वजह से ओर अधिक फैल रहा है।न केवल हथियारों की होड़, बल्कि अंतरिक्ष जोखिमों पर सहयोग करने में उनकी अक्षमता,चंद्रमा और अन्य जगहों पर संभावित रूप से सैकड़ों अरबों डॉलर मूल्य के संसाधनों को निकालने पर बढ़ती प्रतिस्पर्धा काफी जोखिम भरी है। अंतरिक्ष की भू-राजनीति, जो कभी मानव जाति की भलाई के लिए प्रतिद्वंद्वियों को एक साथ लाती थी, अब पृथ्वी पर अमेरिका और उसके सहयोगियों को चीन और रूस के खिलाफ प्रतिस्पर्धा को प्रतिबिंबित कर रही है। अंतरिक्ष में सबसे पहले इन संसाधनों पर अपना अधिकार रखने के इस विवाद के बीच में अमेरिका द्वारा तैयार किया गया आर्टेमिस (Artemis) समझौता, चंद्रमा, मंगल और उससे आगे की गतिविधि को नियंत्रित करने के लिए सिद्धांतों का एक गैर-कानूनी रूप से बाध्यकारी समूह को लागू किए हुए है।नासा (NASA) का कहना है कि यह पहल 1967 की बाहरी अंतरिक्ष संधि पर आधारित है, जो इस दशक में अंतरिक्ष यात्रियों को चंद्रमा पर उतारने और आकर्षक चंद्र तत्वों के खनन कार्यों को शुरू करने के लिए अंतरिक्ष एजेंसी (Agency) के प्रयास की नींव को बनाता है।
हालांकि रूस के युद्ध से पहले ही अंतरिक्ष कार्यक्रम गिरावट में था अब उन्होंने इसे संपूर्ण रूप से बंद कर दिया है, वहीं चीन तेजी से अंतरिक्ष में अमेरिकी क्षमताओं तक पहुँचने के लक्ष्य की ओर बढ़ रहा है।2019 में सबसे पहले देश के रूप में चीन द्वारा चंद्रमा के दूर के हिस्से की ओर एक जांच भेजी गई, और पिछले साल यह अमेरिका के बाद मंगल पर रोवर उतारने वाला दूसरा देश बन गया।10 मार्च को, चीन ने तियांगोंग (Tiangong) में पोतभार पहुंचाने के लिए दक्षिणी द्वीप प्रांत हैनान (Hainan) से एक लॉन्ग मार्चरॉकेट (Long Marchrocket - जो कि परिक्रमा करने वाले अंतरिक्ष यान है) लॉन्च किया, जिसे बीजिंग (Beijing) इस वर्ष पूरा करने की योजना बना रहा है, जिससे चीन अपना अंतरिक्ष स्टेशन संचालित करने वाला एकमात्र देश बन जाएगा। चाँद में सैकड़ों अरबों डॉलर का अप्रयुक्त संसाधन मौजूद है।संभावित चंद्र संसाधनों में लावा नली जैसी भूगर्भीय संरचनाओं के साथ-साथ वाष्पशील और खनिजों जैसी प्रक्रिया योग्य सामग्री शामिल हो सकती है, जो एक साथ चंद्रमा में निवास को सक्षम कर सकती हैं।वहीं रेजोलिथ (चंद्र मिट्टी)को सबसे आसानी से प्राप्त किया जा सकता है; इसके पिघलने से विकिरण और माइक्रोमीटरोइड (Micrometeoroid) सुरक्षा के साथ-साथ निर्माण और फ़र्श सामग्री प्रदान की जा सकती है।चंद्र रेजोलिथ ऑक्साइड (Regolith oxide) से ऑक्सीजन (oxygen), चयापचय ऑक्सीजन और रॉकेट प्रणोदक ऑक्सीडाइज़र (Oxidizer) का स्रोत हो सकता है। पानी की बर्फ विकिरण परिरक्षण, जीवन रक्षक, ऑक्सीजन और रॉकेट प्रणोदक फीडस्टॉक (Feedstock) के लिए पानी प्रदान कर सकती है।साथ ही स्थायी रूप से छाया वाले ज्वालामुख से वाष्पशील मीथेन (CH4), अमोनिया (NH3), कार्बन डाइऑक्साइड (CO2) और कार्बन मोनोऑक्साइड (CO) प्रदान कर सकते हैं।स्थानीय उद्योग के लिए धातु और अन्य तत्व रेजोलिथ में पाए जाने वाले विभिन्न खनिजों से प्राप्त किए जा सकते हैं।चंद्रमा को कार्बन और नाइट्रोजन में खराब, और धातुओं और परमाणु को ऑक्सीजन में समृद्ध माना जाता है, लेकिन उनका वितरण और सांद्रता अभी भी अज्ञात है।आगे चंद्र अन्वेषण आर्थिक रूप से उपयोगी सामग्रियों की अतिरिक्त सांद्रता को प्रकट करने में मदद करेंगे, और ये आर्थिक रूप से शोषक होंगे या नहीं, यह उन पर रखे गए मूल्य और उनके निष्कर्षण का समर्थन करने के लिए उपलब्ध ऊर्जा और बुनियादी ढांचे पर निर्भर करेगा।
चंद्रमा पर संसाधनों का उपयोग, चंद्र अन्वेषण और उससे आगे की लागत और जोखिम को कम करने का एक साधन प्रदान कर सकता है। वहीं भ्रमण पथ और दृष्टांत की वापसी मिशनों से प्राप्त चंद्र संसाधनों के बारे में अंतर्दृष्टि ने चंद्रमा पर स्वस्थानी संसाधन उपयोग की क्षमता की समझ को काफी बढ़ाया है, लेकिन यह ज्ञान अभी तक एक स्वस्थानी संसाधन उपयोग आधारित अभियान को लागू करने के लिए बड़े वित्तीय संसाधनों की प्रतिबद्धता को पूरी तरह से सही ठहराने के लिए पर्याप्त नहीं है।संसाधन उपलब्धता का निर्धारण मानव उपनिवेशण के लिए स्थलों के चयन को प्रेरित करेगा।स्वस्थानी संसाधनों के उपयोग को चंद्रमा पर सफलतापूर्वक लागू करने के लिए, लैंडिंग साइट (Landing site) का चयन अनिवार्य है, साथ ही उपयुक्त सतह संचालन और प्रौद्योगिकियों की पहचान करना भी आवश्यक है। वहीं चंद्र संसाधनों के दोहन के बारे में कई मॉडल और प्रस्ताव मौजूद हैं, फिर भी उनमें से कुछ ही स्थिरता पर विचार करते हैं।स्थिरता प्राप्त करने के लिए दीर्घकालिक योजना और यह सुनिश्चित करना कि आने वाली पीढ़ियों को अमानवीय प्रथाओं द्वारा एक बंजर चंद्र भूमि का सामना न करना पड़ें की आवश्यकता है।चंद्र पर्यावरणीय स्थिरता को ऐसी प्रक्रियाओं को भी अपनाना चाहिए जो न तो विषाक्त सामग्री का उपयोग करती हों और न ही उपज देती हों, और रीसाइक्लिंग लूप (Recycling loops) के माध्यम से कचरे को कम करने का विकल्प चुनना चाहिए।

संदर्भ :-
https://bit.ly/3PtsWOO
https://bit.ly/3wzsdUM
https://go.nasa.gov/38MzQy2
https://bit.ly/3lArBrT

चित्र संदर्भ
1  चाँद पर इंसानों की उपस्थिति को दर्शाता एक चित्रण (Picryl)
2. चाँद परअंतरिक्ष यात्री को दर्शाता एक चित्रण (Rawpixel)
3. चमकते चाँद को दर्शाता एक चित्रण (flickr)
4. क्रू प्रशिक्षण - अपोलो इलेवन, नासा अपोलो कार्यक्रम को दर्शाता एक चित्रण (Picryl)



RECENT POST

  • अंतरिक्ष में कैसे उग रही है बिना मिट्टी की ताज़ा और पौष्टिक सब्जियां ?
    साग-सब्जियाँ

     04-07-2022 10:06 AM


  • 8वीं शताब्दी की भव्य बौद्ध संरचना है, इंडोनेशिया में स्थित बोरोबुदुर मंदिर
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     03-07-2022 11:01 AM


  • कैसे उठें मौत के खौफ से ऊपर ?
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     02-07-2022 10:10 AM


  • जगन्नाथ रथ पर्व के अवसर पर जानिए जगन्नाथ पुरी के रथों की उल्लेखनीय निर्माण प्रक्रिया
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     01-07-2022 10:29 AM


  • पूर्वोत्तर राज्य नागालैंड की प्राकृतिक सुंदरता व नागा जनजातियों की विविध जीवनशैली का दर्शन
    सिद्धान्त 2 व्यक्ति की पहचान

     30-06-2022 08:40 AM


  • कोविड सहित मंकीपॉक्स रोग के दोहरे बोझ से बचने के लिए जरूरी उपाय करना आवश्यक है
    कोशिका के आधार पर

     29-06-2022 09:22 AM


  • शानदार शर्की वास्तुकला की गवाही देती हैं, अटाला सहित जौनपुर की अन्य खूबसूरत मस्जिदें
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     28-06-2022 08:21 AM


  • फैशन जगत में अपना एक नया स्‍थान बना रहा है मछली का चमड़ा
    मछलियाँ व उभयचर

     27-06-2022 09:29 AM


  • शरीर पर घने बालों के साथ भयानक ताकत और स्वभाव वाले माने जाते थे गोरिल्ला
    शारीरिक

     26-06-2022 10:13 AM


  • सिकुड़ते प्राकृतिक आवासों के बीच, गैर बर्फीले क्षेत्रों के अनुकूलित हो रहे हैं, ध्रुवीय भालू
    निवास स्थान

     25-06-2022 09:58 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id