सोशल मीडिया का विकास क्रम और यह कौन सी समस्याएं साथ ला रहा है

जौनपुर

 10-11-2021 09:54 AM
संचार एवं संचार यन्त्र

सोशल मीडिया मानव के सामाजिक विकास क्रम में सबसे महत्वपूर्ण भागीदार रहा है। हजारों वर्षों के सामाजिक विकास में ऐसा कोई भी, अन्य माध्यम नहीं रहा है, जो सोशल मीडिया (Social Media) जितना लोकप्रिय और त्वरित रहा हो। विभन्न सोशल मीडिया माध्यमों ने पिछले दस वर्षों में आश्चर्यजनक रूप से 3.9 बिलियन, नए उपयोगकर्ता शामिल किये हैं। यह प्रगति अभी थमी नहीं हैं, वरन सोशल मीडिया प्रतिवर्ष 25% की गति से वृद्धि कर रहा है। फेसबुक, लिंक्डइन, इंस्टाग्राम, यूट्यूब और अन्य सोशल प्लेटफॉर्म (Social Platform) आज दुनिया पर छा गए हैं। हालांकि आज सोशल मीडिया किसी परिचय की मोहताज़ नहीं हैं। लेकिन यदि विस्तृत भाषा में इसे समझें, तो सोशल मीडिया संवादात्मक प्रौद्योगिकियां (interactive technologies) हैं, जो आभासी नेटवर्क और समुदायों के माध्यम से सूचनाओं, विचारों, रुचियों और अभिव्यक्ति के अन्य रूपों के निर्माण या साझा / आदान-प्रदान करने की अनुमति देती हैं।
भावनाओं और अभिव्यक्तियों को साझा करने के लिए जिन माध्यमों की आवश्यकता पड़ती हैं, उन्हें सोशल मीडिया इंटरेक्टिव वेब 2.0 यानी इंटरनेट-आधारित अनुप्रयोग (Application) कहा जाता है। इन अनुप्रयोगों के माध्यम से उपयोगकर्ता अपने विचार एवं भावनाओं को, शब्द, पोस्ट, टिप्पणियां, डिजिटल फोटो या वीडियो के माध्यम से जाहिर भी कर सकते हैं, और ग्रहण भी कर सकते हैं। सोशल मीडिया एक उपयोगकर्ता की प्रोफ़ाइल को अन्य व्यक्तियों या समूहों के साथ जोड़कर ऑनलाइन सामाजिक नेटवर्क के विकास में मदद करता है।उपयोगकर्ताओं द्वारा इन अनुप्रयोगों को अपने मोबाइल, डेस्कटॉप और लैपटॉप पर डाउनलोड किया जाता हैं। जिसके माध्यम से व्यक्ति, समुदाय और संगठन ऑनलाइन पोस्ट की गई उपयोगकर्ता-जनित सामग्री को साझा, सह-निर्माण, चर्चा, भाग ले सकते हैं और संशोधित कर सकते हैं। 100 मिलियन से अधिक पंजीकृत उपयोगकर्ताओं के साथ कुछ सबसे लोकप्रिय सोशल मीडिया वेबसाइटों में फेसबुक (और इससे जुड़े फेसबुक मैसेंजर), टिकटॉक, वीचैट, इंस्टाग्राम, क्यूजोन, वीबो, ट्विटर, टम्बलर, Baidu टाईबा और लिंक्डइन शामिल हैं। अपनी सेवाओं के अनुसार सोशल मीडिया के लिए कई संचार प्रौद्योगिकी उपलब्ध हैं। उदाहरणार्थ-
● सहयोगी परियोजना (उदाहरण के लिए, विकिपीडिया)
● ब्लॉग और माइक्रोब्लॉग (उदाहरण के लिए, ट्विटर)
● सोशल खबर ​​नेटवर्किंग साइट्स (उदाहरण के लिए डिग और लेकरनेट)
● सामग्री समुदाय (उदाहरण के लिए, यूट्यूब और डेली मोशन)
● सामाजिक नेटवर्किंग साइट (उदाहरण के लिए, फेसबुक)
● आभासी खेल दुनिया (जैसे, वर्ल्ड ऑफ़ वॉरक्राफ्ट)
● आभासी सामाजिक दुनिया (जैसे सेकंड लाइफ)
इलिनोइस विश्वविद्यालय (University of Illinois) में प्लेटो प्रणाली (Plato system) को 1960 में लॉन्च किया गया था। इसने 1973-युग के नवाचारों जैसे नोट्स, प्लेटो के संदेश-मंच एप्लिकेशन के साथ सोशल मीडिया सुविधाओं के तौर पर अपने शुरुआती रूपों की पेशकश की। 1997 में लॉन्च किए गए सिक्सडिग्री (Sixdegree) को अक्सर पहली सोशल मीडिया साइट माना जाता है। तत्कालीन समय में इंस्टेंट-मैसेजिंग क्लाइंट (instant messaging client) (जैसे, ICQ और AOL ​​का AIM) या चैट क्लाइंट के विपरीत, सिक्सडिग्री (six degree) पहला ऑनलाइन व्यवसाय था, जो वास्तविक लोगों के लिए उनके वास्तविक नामों का उपयोग करके बनाया गया था। सिक्सडिग्री को "व्यापक रूप से पहली सोशल नेटवर्किंग साइट माना जाता है," क्योंकि इसमें "प्रोफाइल, मित्र सूचियां और स्कूल संबद्धताएं" शामिल की गई थी। जिनका उपयोग पंजीकृत उपयोगकर्ताओं द्वारा किया जा सकता है। 2015 के शोध से पता चलता है कि, दुनिया ने अपने ऑनलाइन समय का 22% सोशल नेटवर्क पर बिताया। इस प्रकार सोशल मीडिया की लोकप्रियता में वृद्धि स्मार्टफोन के व्यापक दैनिक उपयोग के कारण हुई है।
सोशल मीडिया ने वास्तव में जनसंचार और सूचना प्रसार के पाठ्यक्रम को सफलतापूर्वक पुनर्परिभाषित किया है। इसकी पहुंच प्रसारण और प्रिंट मीडिया की पहुंच से कहीं अधिक है। यह मूल रूप से सभी प्रकार के दर्शकों और दुनियाभर के लोगों को एक साथ जोड़ता है। कई व्यवसाय सोशल मीडिया को सबसे अधिक बैंक योग्य मार्केटिंग रणनीति मानते हैं। राजनितिक उलटफेर करने में सोशल मीडिया माहिर है। पेशेवर अपने करियर और व्यावसायिक संभावनाओं को आगे बढ़ाने के लिए लिंक्डइन का उपयोग करते हैं। ब्लॉगर्स फेसबुक, लिंक्डइन, ट्विटर, यूट्यूब और अन्य अनुप्रयोगों को अपनी प्रतिभा दिखाने के लिए सबसे अच्छे माध्यम मानते हैं। परिवार और दोस्त एक-दूसरे के संपर्क में रहने के लिए फेसबुक और इंस्टाग्राम का इस्तेमाल करते हैं। यह आधुनिक जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गया है। लेकिन जिस तरह हम संचार और सूचना के इन नए रूपों का उपयोग करने का आनंद लेते हैं, उसी तरह हमें सोशल मीडिया का उपयोग करने में विवेकपूर्ण अर्थात अपनी बुद्धि का भी प्रयोग करना चाहिए। यह स्पष्ट है की सोशल मीडिया पर करोड़ों लोग एक्टिव हैं, हालांकि अधिकांश इनका इस्तेमाल सूचना, मनोरंजन एवं संदेश भेजने और प्राप्त करने के लिए करते हैं, किंतु सभी लोग ऐसे नहीं हैं!
आज सोशल मीडिया अपने वास्तविक मकसद से कुछ मायनों में भटक चूका है, जिस कारण यह गंभीर समस्याएं भी उत्पन्न कर रहा है। आजकल समाज में सोशल मीडिया का बढ़ता उपयोग करने की प्रासंगिकता, झूठी सूचनाओं के जानबूझकर प्रसार की शक्ति को बढ़ाती है। "फेक न्यूज"यानि झूटी खबरें सोशल मीडिया का सबसे बड़ा नकारात्मक पहलु हैं। उदाहरण के तौर पर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर 2016 के अमेरिकी चुनाव को प्रभावित करने के आरोप लगते रहे हैं। दुर्भाग्य से झूठी जानकारी फैलाने से न केवल राजनीतिक क्षेत्र में हानि होती है, बल्कि आर्थिक नुकसान भी हो सकता है, जैसा कि 2008 में यूनाइटेड एयरलाइंस (United Airlines) के मामले में हुआ था। सोशल मीडिया पर लोगों के विश्वास के प्रभाव ने यूनाइटेड एयरलाइंस के दिवालिया होने के बारे में झूठी जानकारी फैलाने के बाद शेयर की कीमत को प्रभावित किया। भारत जैसे देश में यह बड़े धार्मिक विवाद का कारण बन सकती हैं। साथ ही, महामारी के प्रकोप के बारे में गलत सूचना, दहशत पैदा करके पूरे समाज को नुकसान पहुंचा सकती है। इन उदाहरणों से पता चलता है कि सोशल मीडिया की गतिशीलता की बेहतर समझ की जांच की जानी चाहिए। ताकि उपयोगकर्ता स्वयं को सोशल मीडिया के दुष्परिणामों से बचा सकें। हालांकि जिस प्रकार हर समस्या के मानवीय और तकनीकी दोनों पक्ष होते है, उसी तरह इनसे निपटने के लिए कोई संभावित समाधान भी होता है। सोशल मीडिया कंपनियों को पारदर्शिता कायम रखने के लिए मजबूर किया जा सकता है। सोशल मीडिया के दुष्प्रभावों से बचने और दूसरों को भी सुरक्षित रखें के लिए, सबसे पहले हमें एक उपयोगकर्ता के रूप में अपनी बौद्धिक क्षमता का प्रयोग करना चाहिए, और किसी भी खबर की सत्यता की पुष्टि किये बिना उसे आगे प्रेषित नहीं करना चाहिए।

संदर्भ
https://bit.ly/3D9bfha
https://bit.ly/3F1ah6V
https://brook.gs/3EYy87m
https://en.wikipedia.org/wiki/Social_media

चित्र संदर्भ
1. सोशल मीडिया अनुप्रयोगों को दर्शाता एक चित्रण (wikimedia)
2  सोशल मीडिया अनुप्रयोगों पर भावनाओं को दर्शाता एक चित्रण ( Cosmetics Design Europe)
3. सिक्सडिग्री (Sixdegree) को अक्सर पहली सोशल मीडिया साइट माना जाता है, जिसको दर्शाता एक चित्रण (wikimedia)
4. झूठी खबर को संदर्भित करता एक चित्र (wikimedia)



RECENT POST

  • नीलगाय की समस्या अब केवल भारतीय किसान की ही नहीं बल्कि उन देशों की भी जिन्होंने इसे आयात किया
    निवास स्थान

     02-12-2021 08:44 AM


  • भारत की तुलना में जर्मनी की वोटिंग प्रक्रिया है बेहद जटिल
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक आधुनिक राज्य: 1947 से अब तक

     01-12-2021 08:55 AM


  • हिन्दी शब्द चाँपो औपनिवेशिक युग में भारत से ही अंग्रेजी भाषा में Shampoo बना
    ध्वनि 2- भाषायें

     30-11-2021 10:23 AM


  • जौनपुर के शारकी राजवंश के ऐतिहासिक सिक्के
    मध्यकाल 1450 ईस्वी से 1780 ईस्वी तक

     29-11-2021 08:50 AM


  • भारत ने मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता का खिताब छह बार अपने नाम किया, पहली बार 1966 में रीता फारिया ने
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     28-11-2021 12:59 PM


  • भारतीय परिवार संरचना के लाभ
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     27-11-2021 10:23 AM


  • विश्व सहित भारत में आइस हॉकी का इतिहास
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     26-11-2021 10:13 AM


  • प्राचीन भारत में भूगोल की समझ तथा भौगोलिक जानकारी के मूल्यवान स्रोत
    ठहरावः 2000 ईसापूर्व से 600 ईसापूर्व तक

     25-11-2021 09:43 AM


  • सई नदी बेसिन में प्राचीन पुरातत्व स्थल उल्लेखनीय हैं
    छोटे राज्य 300 ईस्वी से 1000 ईस्वी तक

     24-11-2021 08:45 AM


  • मशक से लेकर होल्‍डॉल और वाटरप्रूफ़ बैग तक, भारत में स्वदेशी निर्माण का इतिहास
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     23-11-2021 10:58 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id