जीवन की घटनाएं भाई-बहनों के बीच के संबंध को कैसे बदलती हैं

जौनपुर

 05-11-2021 04:32 PM
विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

भाई बहन का रिश्ता हमारे जीवन में सबसे लंबे समय तक साथ देने वाले रिश्तों में से एक होता है, इस रिश्ते में सुख दुख समान भाव से मौजूद होता है।यह रिश्ता जीवन के विविध उतार-चढ़ाव से गुजरते हुए भी एक बहुत गहरे अहसास के साथ हमेशा ताजातरीन और जीवंत बना रहता है।शोधकर्ताओं द्वारा काफी लंबे समय से नजरअंदाज किए गए भाई-बहन के बंधन को अब हमारे जीवन में सबसे महत्वपूर्ण में से एक माना गया है। किसी भी अन्य अतुल रिश्ते में साझा परवरिश, साझा जीन (Genes) और साझा रहस्य शामिल नहीं होता हैं। कई अध्ययन बताते हैं कि जैसे-जैसे हम बड़े होते जाते हैं, वैसे-वैसे एक मिलनसार भाई-बहन संस्मरण (पारिवारिक छुट्टियों की यादें) और व्यावहारिक समर्थन में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।लेकिन कई बार ऐसा समय भी आता है जब कई बच्चे चाहते हैं कि उनके बहन या भाई सदैव के लिए गायब हो जाएं। अधिकतम यह देखा गया है कि भाई-बहनों के रिश्तों की कड़ी में बहने सबसे अधिक प्रतिस्पर्धी होती हैं। मनोवैज्ञानिक रॉबर्टविलियम्स (Robert Williams)द्वारा बताया गया है कि यह प्रतिस्पर्धा की भावना बहनों में जीवन स्तर में भिन्न होती है: "बचपन में, एक लड़की अपनी बड़ी बहन को प्रतिद्वंद्वी के रूप में देख सकती है; जब यौवन आता है, तो बहन किशोर दुनिया के लिए एक प्रशंसनीय मार्गदर्शक बन जाती है; इसके तुरंत बाद, जब जीवन साथी की बात आती है तो, 'ध्यान दें, बहन फिर से एक अवांछित प्रतियोगी बन सकती है।"हालांकि अच्छी बात तो यह है कि बच्चों के रूप में बहनें कितनी ही झगड़ती क्यों न हो,जैसे-जैसे वे बड़ी होती जाती हैं, उनका संबंध बेहतर होता जाता है। ऐसा इसलिए हो सकता है क्योंकि उनके बीच एक दूसरे को साबित करने के लिए कम विषय होता है यदि होता भी है तो उसके लिए उनके पास समय कम होता है, लेकिन यह आपके माता-पिता का ध्यान रखने के लिए प्रतिस्पर्धा करने की आवश्यकता से भी जुड़ा हुआ है। पत्रिका चाइल्ड डेवलपमेंट (Child Development) में एक अध्ययन ने 200 परिवारों में माता-पिता और पहले और दूसरे जन्म के बच्चों के साथ साक्षात्कार का विश्लेषण किया। जैसा कि अन्य अध्ययनों में पाया गया है, कि बहनें भाइयों की तुलना में अपने भाई-बहनों के प्रति अधिक प्रेम महसूस करती हैं, और यह कि इनके बीच झगड़े की सबसे खराब उम्र तब होती है जब सबसे बड़ा बच्चा 13 साल का होता है और दूसरा 10 साल का। हालांकि इस उम्र के बाद झगड़ा कम होना चाहिए। वहीं भाई-बहन हमें रिश्तों को चलाने, पहचान की भावना खोजने और दूसरों के प्रति लगाव पैदा करने के तरीके को समझने के लिए महत्वपूर्ण कौशल सीखने में मदद करते हैं। साथ ही कुछ शोधकर्ताओं का मानना है कि सबसे पहले जन्मे भाई बहन अन्य भाई बहन से निपुण होते हैं। 2007 के एक अध्ययन में यह भी पाया गया कि पहले जन्म के बच्चों की औसत आयु अगले बच्चे की तुलना में 3 अंक अधिक होती है। अन्य अध्ययनों से पता चलता है कि पहले जन्म के बच्चों की आय भी थोड़ी अधिक होती है, और उन्हें हृदय रोग का खतरा भी अधिक हो सकता है।फ्रैंकसुलोवे (Frank Sulloway), जिन्होंने जन्म क्रम के प्रभाव पर महत्वपूर्ण शोध किया है, ने बताया कि छोटे भाई-बहन मन के एक सहानुभूति सिद्धांत, या जिसे अक्सर "मानसिकता" कहा जाता है, विकसित करने में अधिक असामयिक लगते हैं। जबकि आखिरी जन्म के बच्चे सबसे छोटे होने की भरपाई के लिए हास्य का उपयोग कर सकते हैं। हालाँकि, मध्य बच्चों में सबसे कम आत्मसम्मान होता है, क्योंकि सबसे बड़े और सबसे छोटे बच्चों को अपेक्षाकृत अधिक माता-पिता का समय और ध्यान मिलता है। साथ ही यह भी पाया गया है कि सबसे बड़े बच्चे नए विचारों को अस्वीकार करते हैं," जबकि जो लोग पहले पैदा नहीं हुए थे, वे विज्ञान या राजनीति में, क्रांतिकारी क्रांति को स्वीकार करने की संभावना 5 से 15 गुना अधिक होती है।इन सभी मतभेदों के बाद भी भाई-बहन का रिश्ता अविभाज्य और प्रेम से भरपूर होता है। लेकिन इन अविश्वसनीय भाई-बहनों के बंधन का कारण क्या है? निम्न ऐसी सात संभावनाएं हैं जिनका आनुवंशिकी से कोई लेना-देना नहीं है।

1) वे हमारे सबसे स्थायी रिश्ते को चिह्नित करते हैं : जितना एक व्यक्ति अपने भाई बहन को जानता है उतने लंबे समय से वे किसी अन्य व्यक्ति को नहीं जान सकता है। चाहे वे पूरे किशोरावस्था में लगातार लड़े, अपने वयस्क जीवन की अवधि में एक दूसरे से संपर्क खो चुके हों या अविश्वसनीय रूप से करीब और पहले दिन से जुड़े रहे, भाई-बहनों से उनका संबंध हमेशा इस अर्थ में सबसे पहले आएगा।भाई-बहन का रिश्ता जीवन का सबसे लंबे समय तक चलने वाला रिश्ता है, जो हम में से अधिकांश के लिए एक चौथाई सदी तक, अपने माता-पिता के साथ हमारे संबंधों की तुलना में अधिक लंबा होता है।
2) वे हमारे सबसे अच्छे शिक्षक हो सकते हैं :भाई-बहन के रिश्ते बच्चों को उनकी पहली सहकर्मी बातचीत और दीर्घकालिक और अंतरंग संबंधों के विभिन्न पहलुओं को संभालने का पहला अवसर प्रदान करती हैं।
3) उनकी स्थायी यादें अच्छे समय पर केंद्रित होती हैं :कुछ लोग दूसरों की तुलना में नकारात्मक अनुभवों को बेहतर तरीके से दूर करने में सक्षम होते हैं। और भाई-बहन इसके लिए विशेष रूप से सक्षम होते हैं (कम से कम, जब एक-दूसरे की बात आती है तो)।
4) बुरा वक्त उन्हें और भी करीब लाता है:भाई-बहन जो एक साथ दर्दनाक घटनाओं का अनुभव करते हैं, चाहे वह अपने माता-पिता का तलाक हो या किसी प्रियजन का अचानक नुकसान हो, अपने मतभेदों को एक तरफ रखने और ताकत और समर्थन के लिए एक साथ खड़े रहने की क्षमता बनाए रखते हैं। वेएक स्थिर समर्थन प्रणाली के साथ कठिन जीवन के सबक का अनुभव करते हैं और अक्सर पहले से कहीं ज्यादा करीब हो जाते हैं।
5) वे सहज रूप से एक दूसरे को समझते हैं :चाहे वह बड़े होने के दौरान एक साथ बिताए गए समय के कारण हो या एक-दूसरे पर निर्णय पारित करने की आवश्यकता की कमी के कारण, भाई-बहन एक-दूसरे को काफी अच्छे से समझने में सक्षम होते हैं।
6) वे विशेष रूप से जीवन में बाद में सहायक होते हैं :जब वे वृद्धावस्था तक पहुंचते हैं, तब उनका संबंध काफी अटूट हो जाता है। वास्तव में, शोध से पता चलता है कि जैसे-जैसे लोग वृद्ध होते जाते हैं, यदि उनके भाई-बहन साथ हैं तोउनका मनोबल भी अधिक हो जाता है।इसके अलावा, शोध से पता चलता है कि बहनों वाले वृद्ध पुरुष बिना बहनों की तुलना में भावनात्मक रूप से अधिक सुरक्षित महसूस करते हैं। जीवन के विविध उतार-चढ़ाव से गुजरते हुए, बस, भाई-बहन के फुरसत में मिलने भर की देर होती है, यादों की शीतल छींटे पड़ते ही अतीत के केसरिया पन्नों से चंदन-बयार उठने लगती है। एक ऐसी सौंधी-सुगंधित सुवास जो मन के साथ-साथ पोर-पोर महका देती है।मन के किसी कच्चे कोने में बचपन से लेकर युवा होने तक की, स्कूल से लेकर बहन के बिदा होने तक की और एक-दूजे से लड़ने से लेकर एक-दूजे के लिए लड़ने तक की असंख्य स्मृतियाँ परत-दर-परत मन को खुशियों से भर देती है।

संदर्भ :-
https://bit.ly/31uhIoR
https://bit.ly/31kvdas
https://bit.ly/3bFlv4E
https://n.pr/31k3yX8
https://bit.ly/3GMGIrB

चित्र संदर्भ

1. बहन को अपनी गोद में लिए भाई का एक चित्रण (prarang)
2  एक साथ बैठे भाई-बहनों को दर्शाता एक चित्रण (istock)
3. भारतीय गायका नेहा कक्क्ड़ का अपने भाई और बहन के संग एक चित्रण (twitter)



RECENT POST

  • नीलगाय की समस्या अब केवल भारतीय किसान की ही नहीं बल्कि उन देशों की भी जिन्होंने इसे आयात किया
    निवास स्थान

     02-12-2021 08:44 AM


  • भारत की तुलना में जर्मनी की वोटिंग प्रक्रिया है बेहद जटिल
    उपनिवेश व विश्वयुद्ध 1780 ईस्वी से 1947 ईस्वी तक आधुनिक राज्य: 1947 से अब तक

     01-12-2021 08:55 AM


  • हिन्दी शब्द चाँपो औपनिवेशिक युग में भारत से ही अंग्रेजी भाषा में Shampoo बना
    ध्वनि 2- भाषायें

     30-11-2021 10:23 AM


  • जौनपुर के शारकी राजवंश के ऐतिहासिक सिक्के
    मध्यकाल 1450 ईस्वी से 1780 ईस्वी तक

     29-11-2021 08:50 AM


  • भारत ने मिस वर्ल्ड प्रतियोगिता का खिताब छह बार अपने नाम किया, पहली बार 1966 में रीता फारिया ने
    द्रिश्य 3 कला व सौन्दर्य

     28-11-2021 12:59 PM


  • भारतीय परिवार संरचना के लाभ
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     27-11-2021 10:23 AM


  • विश्व सहित भारत में आइस हॉकी का इतिहास
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     26-11-2021 10:13 AM


  • प्राचीन भारत में भूगोल की समझ तथा भौगोलिक जानकारी के मूल्यवान स्रोत
    ठहरावः 2000 ईसापूर्व से 600 ईसापूर्व तक

     25-11-2021 09:43 AM


  • सई नदी बेसिन में प्राचीन पुरातत्व स्थल उल्लेखनीय हैं
    छोटे राज्य 300 ईस्वी से 1000 ईस्वी तक

     24-11-2021 08:45 AM


  • मशक से लेकर होल्‍डॉल और वाटरप्रूफ़ बैग तक, भारत में स्वदेशी निर्माण का इतिहास
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     23-11-2021 10:58 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id