पानी में तैरने, हवा में उड़ने, और बिल को खोदने के लिए सांपों ने किए हैं, अपने शरीर में कुछ सूक्ष्म परिवर्तन

जौनपुर

 13-06-2021 11:42 AM
व्यवहारिक
सांप हाथों, पैरों, पंजों या चिपकने वाले पंजों की सहायता के बिना भी पेड़ों, दीवारों और अन्य कुछ समतल सतहों पर चढ़ जाते हैं। वे रेंग सकते हैं, बिल खोद सकते हैं, तैर सकते हैं और यहां तक कि हवा में भी एक छोटी उड़ान भर सकते हैं। वे जो कुछ भी करते हैं, उससे उनकी शारीरिक संरचना में कोई बदलाव नहीं आता। पानी में तैरने वाले सांपों के पंख या फिंस (Fins) नहीं होते हैं, उड़ने वाले सांपों के पंख नहीं होते हैं, और न ही बिल बनाने वाले सांपों के पंजे होते हैं। लेकिन उन्होंने अपने शरीर में कुछ सूक्ष्म बदलाव किए हैं। ऊपर उठने या चढ़ाई चढ़ने वाले सांपों का शरीर पतला होता है, तथा उनकी पूंछ लंबी होती है, वे अपने शरीर को कुंडलीनुमा आकार में ढाल सकते हैं। बोआ कंस्ट्रिक्टर (Boa constrictors) जैसे स्थलीय सांपों का पार्श्व भाग भारी होता है, तथा उनकी पूंछ छोटी होती है। सभी समुद्री सांप चपटी, चप्पू जैसी पूंछ के साथ खुद को आगे बढ़ाते हैं। सांप अपने ट्यूब जैसे पूरे शरीर को झुकाकर और मोड़कर ऊपर की ओर चढ़ते हैं। उनका चमकदार पेट भले ही चढ़ाई चढ़ने के लिए अनुपयुक्त दिखाई देता हो, लेकिन वे खुरदुरे पेड़ की छाल पर भी फिसलते हुए चल सकते हैं। अगर वे खुरदरे होते, तो घर्षण पैदा करते और सरीसृपों की गति को धीमा कर देते। यहां तक कि कुछ सांप ऐसे भी होते हैं, जो किसी घर के ऊपरी स्तर पर होने के बावजूद भी चढ़ाई चढ़कर घर में घुसने की क्षमता रखते हैं। सांप कभी भी चिकनी दीवार पर नहीं चढ़ सकते। छिपकली के विपरीत सांप चिकनी सतह को पकड़ पाने में सक्षम नहीं होता, इसलिए यह एक चिकनी सतह पर चढ़ पाने में सक्षम नहीं होगा। लेकिन वे आसानी से एक ईंट या पत्थर की दीवार पर चढ़ सकते हैं। यहां तक कि ईंट या पत्थर की दीवार पर चढ़ना उनके लिए पेड़ पर चढ़ने से भी आसान है, तथा वे इसे सहजता के साथ कर सकते हैं। वे अक्सर एक दीवार पर चढ़ते नजर आ जाते हैं, क्योंकि उन्हें अटारी में चूहों की गंध आती है। वे उसी छेद में प्रवेश करते हैं जिसका उपयोग चूहे करते हैं। आइए, इस वीडियो के जरिए सांप को दीवार पर चढ़ते हुए देंखे।

संदर्भ:
https://bit.ly/3cCt78L
https://bit.ly/3pKS2w6


RECENT POST

  • दैनिक जीवन सहित इंटीरियर डिजाइन में रंगों और रोशनी की भूमिका
    घर- आन्तरिक साज सज्जा, कुर्सियाँ तथा दरियाँ

     19-01-2022 11:10 AM


  • पानी के बाहर भी लंबे समय तक जीवित रह सकती हैं, उभयचर मछलियां
    मछलियाँ व उभयचर

     17-01-2022 10:52 AM


  • हिन्दू देवता अचलनाथ का पूर्वी एशियाई बौद्ध धर्म में महत्व
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     17-01-2022 05:39 AM


  • साहसिक गतिविधियों में रूचि लेने वाले लोगों के बीच लोकप्रिय हो रही है माउंटेन बाइकिंग
    हथियार व खिलौने

     16-01-2022 12:50 PM


  • शैक्षणिक जगत में जौनपुर की शान, तिलक धारी सिंह महाविद्यालय
    सिद्धान्त 2 व्यक्ति की पहचान

     15-01-2022 06:28 AM


  • लोकप्रिय पर्व लोहड़ी से जुड़ी लोकगाथाएं एवं महत्व
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     14-01-2022 02:47 PM


  • अनुचित प्रबंधन के कारण खराब हो रहा है जौनपुर क्रय केन्द्रों पर रखा गया धान
    साग-सब्जियाँ

     13-01-2022 07:02 AM


  • प्राचीन काल से ही कवक का औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है
    फंफूद, कुकुरमुत्ता

     12-01-2022 03:29 PM


  • लिथियम भंडारण की कतार में कहां खड़ा है भारत
    खनिज

     11-01-2022 11:29 AM


  • व्यंजन की सफलता के लिए स्वाद के साथ उसका शानदार प्रस्तुतीकरण भी है,आवश्यक
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     10-01-2022 07:01 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id