मांसपेशियों को मजबूत करता है पालक

जौनपुर

 30-11-2020 09:27 AM
साग-सब्जियाँ

ठंड के मौसम में मुख्य रूप से आने वाली पत्तेदार सब्जियों में पालक का नाम सबसे ऊपर है। इस हरी सब्जी में कई पोषक तत्वा मौजूद हैं, जो कहीं और नहीं मिल सकते। कई कार्टून (Cartoon) जैसे पोपए (Popeye) में दिखाया गया है कि कैसे पोपए पालक खाने के बाद काफी ताकतवर हो जाता था, वास्तविकता में भी कई शोधकर्ताओं ने पाया है कि हरी पत्तेदार सब्जी वास्तव में मांसपेशियों की शक्ति को बढ़ाती है। पालक में मौजूद अकार्बनिक नाइट्रेट (Nitrate) इसकी ताकत के पीछे का रहस्य है। वहीं चूहों में किए गए एक अध्ययन में चूहों को नाइट्रेट मीक्षित पानी दिया गया और पाया गया कि उनके पानी ने दो प्रमुख प्रोटीनों को उत्तेजित करके मांसपेशियों को काफी मजबूत कर दिया। नाइट्रेट की मात्रा जो चूहों को मिली थी, वह लगभग एक व्यक्ति को प्रतिदिन 200 से 300 ग्राम ताजा पालक या दो से तीन चुकंदर खाकर प्राप्त होने के बराबर थी।
ऐसा माना जाता है कि पालक प्राचीन फारस (Persia) या वर्तमान के ईरान (Iran) और आसपास के देश में पाया गया था। वहां से यह भारत में पहुंचा, लेकिन यह ज्ञात नहीं है कि इसे वहां कौन लाया था? प्राचीन चीन (China) में यह भारत से आया और इसे "फारसी सब्जी" का नाम दिया गया। वहाँ पालक का पहला लिखित उल्लेख मिलता है, जो कहता है कि ‘यह 647 वर्ष के आसपास नेपाल (Nepal) से होकर चीन आया था’। सार्केन्स (Saracen - जो कि बाद के मध्ययुगीन काल में यूरोपीय (Europeans) कहे जाने वाले मुसलमान थे) वर्ष 827 में सिसली (Sicily) से पालक लाए थे। भूमध्यसागर (Mediterranean Sea) में पालक का उल्लेख करने वाले पहले ग्रंथ 10वीं शताब्दी में लिखे गए थे। उस समय के दौरान जब अरब (Arabs) ने भूमध्यसागर में अधिकार किया था, तब पालक बहुत लोकप्रिय था और समय के साथ में यह स्पेन (Spain) में आया था, इसके बाद यह पूरे विश्व भर में फैल गया। पालक की बेल ऊंचाई में 30 सेंटीमीटर तक बढ़ सकती है और इसकी पत्तियों की चौड़ाई 15 सेंटीमीटर तक और लंबाई 30 सेंटीमीटर तक हो सकती है। इसके बीज बहुत छोटे फलों (त्रिज्या में 10 मिलीमीटर) से आता है और ये फल भी समान रूप से छोटे फूलों (5 मिलीमीटर) से आते हैं। हालांकि भारतीय पालक की उत्पत्ति एशिया से होती है लेकिन अब इसे अधिकांश उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों में उगाया जाता है। इसे आमतौर पर पकाकर खाया जाता है लेकिन कुछ इसे सलाद में कच्चे रूप में भी इस्तेमाल करते हैं। भारतीय पालक एक मुलायम तने वाली बेल है, जो मोटे हरे पत्ते और अर्ध-रसीले होते हैं। डंठल हरे या पीले रंग के होते हैं, लेकिन कुछ किस्मों में वे बैंगनी या लाल रंग के हो सकते हैं। ये गर्म उष्णकटिबंधीय जलवायु में उगाए जाते हैं और 10 मीटर की लंबाई तक पहुँच सकते हैं।
पालक विटामिन ए (Vitamin A), विटामिन सी (Vitamin C), विटामिन के (Vitamin K), राइबोफ्लेविन (Riboflavin), विटामिन बी6 (Vitamin B6), विटामिन ई (Vitamin E), कैल्शियम (Calcium), पोटेशियम (Potassium), आहार फाइबर (Dietary Fiber), मैग्नीशियम (Magnesium), मैंगनीज (Manganese), फोलेट (Folate) और आयरन (Iron) का एक बड़ा स्रोत है। 100 ग्राम पालक में केवल 23 कैलोरीज (Calories) होती है। यद्यपि इसमें उच्च मात्रा में आयरन (मांस से अधिक) होता है, लेकिन इसमें ऑक्सालेट (Oxalate) भी होता है जो आयरन का अवशोषण और अवरोधक पदार्थ होता है, और यह आयरन को अवशोषित करने से रोकता है, इसलिए इससे इसका संपूर्ण लाभ नहीं प्राप्त होता है। ऑक्सालेट कैल्शियम के अवशोषण को भी रोकता है और इसकी वजह से, शरीर पालक से केवल 5% कैल्शियम को अवशोषित कर सकता है।

संदर्भ :-
http://www.vegetablefacts.net/vegetable-history/spinach-history/
https://en.wikipedia.org/wiki/Spinach
https://world-crops.com/indian-spinach/
https://bit.ly/3fNcRCb
https://bit.ly/3q5NlN8
चित्र सन्दर्भ:
प्रथम चित्र में पालक की पत्तियों को दिखाया गया है। (Freepik)
दूसरे चित्र में पालक और सरसों को दिखाया गया है। (Wikimedia)
तीसरे चित्र में पालक की अन्य किस्मों को दिखाया गया है। (Freepik)


RECENT POST

  • मिट्टी से जुड़ी हैं, भारतीय संस्कृति की जड़ें, क्या संदर्भित करते हैं मिट्टी के बर्तन या कुंभ?
    म्रिदभाण्ड से काँच व आभूषण

     18-05-2022 08:49 AM


  • भगवान बुद्ध के जीवन की कथाएँ, सांसारिक दुःख से मुक्ति के लिए चार आर्य सत्य
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     17-05-2022 09:53 AM


  • आधुनिक युग में संस्कृत की ओर बढ़ती जागरूकता और महत्व
    ध्वनि 2- भाषायें

     17-05-2022 02:09 AM


  • पर्यावरण की सफाई में गिद्धों की भूमिका
    व्यवहारिक

     15-05-2022 03:40 PM


  • मानव हस्तक्षेप के संकटों से गिरती भारतीय कीटों की आबादी, हमें जागरूक होना है आवश्यक
    तितलियाँ व कीड़े

     14-05-2022 10:13 AM


  • गर्मियों में नदियां ही बन जाती हैं मुफ्त का स्विमिंग पूल, स्थिति हमारी गोमती की
    नदियाँ

     13-05-2022 09:33 AM


  • तापमान वृद्धि से घटते काम करने के घण्‍टे, सबसे बुरी तरह प्रभावित होने वाला क्षेत्र है कृषि
    जलवायु व ऋतु

     11-05-2022 09:11 PM


  • भारतीय नाटककार, प्रताप शर्मा द्वारा बड़े पर्दे पर प्रदर्शित मेरठ की शक्तिशाली बेगम समरू का इतिहास
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     11-05-2022 12:13 PM


  • जलवायु परिवर्तन से जानवरों तथा मनुष्‍य के बीच बढ़ सकता है नए वायरस द्वारा रोग संचरण
    कीटाणु,एक कोशीय जीव,क्रोमिस्टा, व शैवाल

     10-05-2022 09:04 AM


  • वर्ष 2030 में नौकरियों व् कौशल का क्या भविष्य होगा? फ़िल्हाल, शिक्षा में बड़े सुधार की ज़रुरत है
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     09-05-2022 08:50 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id