क्या जानवरों को भी होता है, दुःख का एहसास?

जौनपुर

 12-09-2020 10:09 AM
व्यवहारिक

रहिमन चुप हो बैठिए, देखि दिनन के फेर ।
जब नीके दिन आई है, बनत न लगिहैं देर।।

दुःख मनुष्य की सामान्य भावना होती है। दुःख का एहसास तीव्र मानसिक और शारीरिक पीड़ा के रूप में होता है। उस समय क्रोध, इनकार, अपराध बोध, दुःख और निराशा किसी भी रूप में इसे महसूस किया जाता है। जानवरों में हाथियों में खासतौर से दुःख का एहसास होता है। पशुओं का दुःख मनुष्यों से किस प्रकार भिन्न होता है, यह समझने के लिए हाथियों के बर्ताव पर ध्यान देने की जरूरत है, जो शोक और मौत में बहुत कुछ मनुष्यों की तरह अपनी अनुभूति व्यक्त करते हैं।

हाथियों का आश्चर्यजनक शोक प्रगटन
हाथियों में मौत के बाद जो संस्कार और रीति-रिवाज निभाए जाते हैं, वे उनकी संवेदना की गहराई को व्यक्त करते हैं। जब वह हाथी की हड्डियों के पास इकट्ठे होते हैं, तो उन्हें मालूम रहता है कि यह किसी दूसरे हाथी की हड्डियां हैं। वे बहुत ध्यान और शांति से खोज कर सारी हड्डियां जमा करते हैं। हाथी दूसरे हाथियों के समाधि स्थल पर नियमित जाते हैं तथा अपने झुंड के किसी मृत हाथी के पास रुक कर शोक प्रकट करते हैं। हाथी पत्तियों, मिट्टी, टहनियों से मृत हाथी के शरीर को ढक देते हैं। हाथी दूसरे जानवर और मनुष्यों के प्रति भी सद्भाव रखते हैं। इससे साबित होता है कि हाथी बहुत दयालु जीव होते हैं।

क्या जानवरों को भी दुःख का एहसास होता है?
बहुत दिनों तक एक मदर औरका (Mother Orca) की खबर सारे संसार के समाचार जगत में छाई रही, जो अपने मृत बच्चे को छाती से चिपकाए समुद्र के बर्फीले पानी में 17 दिन तक जीवित रही। यह समुद्री स्तनधारी के दुःख का सबसे प्रभावी अनुभव था। वैज्ञानिकों में इस बात को लेकर मतभेद है कि जानवरों में वास्तविक दुःख होता है।

कोरोनावायरस महामारी और मानसिक स्वास्थ्य
भारत में कोरोनावायरस महामारी से उत्पन्न लोगों को जबरन एकांत में रहने और बेरोजगार होने पर मजबूर किया है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि चिंता, अवसाद और आत्महत्या बढ़ रही हैं। लोगों का मानसिक स्वास्थ्य देश का अगला संकट बनने जा रहा है। मानसिक बीमारियों के मामले 20% बढ़ गए हैं।

सन्दर्भ :
https://www.dw.com/en/coronavirus-triggers-mental-health-crisis-in-india/a-54011738
https://www.nationalgeographic.com/news/2016/08/elephants-mourning-video-animal-grief/
https://www.smithsonianmag.com/science-nature/do-animals-experience-grief-180970124/
https://www.elephantsforever.co.za/elephant-emotions-grieving.html

चित्र सन्दर्भ :
मुख्य चित्र में हाथियों को शोक अभिव्यक्त करते हुए दिखाया गया है। (wikimedia)
दूसरे चित्र में हाथी दूसरे हाथी के मृत शरीर के निकट शोक प्रकट कर रहे हैं। (Flickr)
अंतिम मदर चित्र में एक औरका (Orca) को दिखाया गया है। (pngtree)



RECENT POST

  • मोहम्‍मद के जन्‍मोत्‍सव मिलाद से जूड़े अध्‍याय
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     27-10-2020 09:59 PM


  • कोरोना महामारी के प्रसार को रोकने में चुनौती साबित हो रहा है जल संकट
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     27-10-2020 12:32 AM


  • दशानन की खूबियां
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     26-10-2020 10:38 AM


  • आश्चर्य से भरपूर है, बस्तर की असामान्य चटनी छपराह
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     25-10-2020 05:59 AM


  • नृत्‍य में मुद्राओं की भूमिका
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     23-10-2020 08:17 PM


  • दिव्य गुणों और अनेकों विद्याओं के धनी हैं, महर्षि नारद
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     22-10-2020 04:58 PM


  • जौनपुर के मुख्य आस्था केंद्रों में से एक है, मां शीतला चौकिया धाम
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     21-10-2020 09:38 AM


  • कृत्रिम वर्षा (Cloud Seeding): बादल एवम्‌ वर्षा को नियंत्रित करने का कारगर उपाय
    जलवायु व ऋतु

     21-10-2020 01:06 AM


  • मुगलकालीन प्रसिद्ध व्‍यंजन जर्दा
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     20-10-2020 08:47 AM


  • नौ रात्रियों का पर्व
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     19-10-2020 07:21 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id