जौनपुर जिले की भौगोलिक दशा

जौनपुर

 08-04-2017 12:00 AM
नदियाँ
जौनपुर जिले की भौगोलिक संरचना मुख्यत: सपाट मैदानी, बाग, नदी-घाटियों से संपूर्ण है| गोमती तथा कई यहाँ की मुख्य नदियाँ हैं| इनके अलावा यहाँ वरुणा, बसुही, पीली, ममुर व गंगा यह की छोटी नदियाँ है| गोमती और बसुही यहाँ की जमीन को चार बराबर भागो में विभाजित करतीं हैं| शारदा नहर परिभोजना, जिले मे जल का एक और प्रमुख स्रोत है जिससे जिले के विभिन्न भागों में छोटी-छोटी नहरों के सहारे खेती हेतु पानी पहुँचाया जाता है| यहाँ की मिट्टी मुख्य रूप से बलुई, जलोट, चिकनी तथा दोमट प्रकार की मिट्टी है| नदियों, नहर व मिट्टी के विभिन्न प्रकार जिले को कृषि के लिए सर्वोत्तम रूप प्रदान करते है|

RECENT POST

  • औषधीय गुणों के साथ रेशम उत्पादन में भी सहायक है, शहतूत की खेती
    पेड़, झाड़ियाँ, बेल व लतायें

     30-10-2020 04:16 PM


  • भारत में लौह-कार्य की उत्पत्ति
    मध्यकाल 1450 ईस्वी से 1780 ईस्वी तक

     29-10-2020 05:43 PM


  • पंजा शरीफ में भी मौजूद है पैगंबर मुहम्मद साहब कदम
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     29-10-2020 09:50 AM


  • मोहम्‍मद के जन्‍मोत्‍सव मिलाद से जूड़े अध्‍याय
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     27-10-2020 09:59 PM


  • कोरोना महामारी के प्रसार को रोकने में चुनौती साबित हो रहा है जल संकट
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     27-10-2020 12:32 AM


  • दशानन की खूबियां
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     26-10-2020 10:38 AM


  • आश्चर्य से भरपूर है, बस्तर की असामान्य चटनी छपराह
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     25-10-2020 05:59 AM


  • नृत्‍य में मुद्राओं की भूमिका
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     23-10-2020 08:17 PM


  • दिव्य गुणों और अनेकों विद्याओं के धनी हैं, महर्षि नारद
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     22-10-2020 04:58 PM


  • जौनपुर के मुख्य आस्था केंद्रों में से एक है, मां शीतला चौकिया धाम
    वास्तुकला 1 वाह्य भवन

     21-10-2020 09:38 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id