जौनपुर की कालीन

जौनपुर

 07-04-2017 12:00 AM
स्पर्शः रचना व कपड़े
भारत मे कालीन का लिखित इतिहास 16 वी शताब्दी से शुरू होता है| अकबर ने फारसी कालीन बुनकरों को फारस से भारत बुलवाकर एक राजसी कार्यशाला का निर्माण अपने महल मे करवाया| अकबर ने बुनकरों को यह आदेश दिया कि वह कालीन का निर्माण ठीक फारस के फारसी कालीनों की तरह करें| इससे पहले ऑरिल स्टाइन द्वारा पूर्वी तुर्किस्तान के पुरातात्विक खुदाई से भारयीय कपड़ो व ऊनी कपडा बुनने वाले औजार के साक्ष्य मिलते हैं| अकबर के अलावा उसके बाद आनेवालें राजाओं जहाँगीर व शाहजहाँ ने कालीनों की कला को पराकाष्ठा तक पहुँचाया| भारत के अनेक प्रदेशो में विभिन्न प्रकार कि कालीनों का निर्माण होता है, जिनमे भदोही, मिर्जापुर, जौनपुर, आदि अपनी कालीनों के लिए प्रसिद्ध है| सन 1867 ई मे मिर्जापुर कालीन प्रशंसित हुई व इनाम भी जीती थी| यहाँ की कालीन मुख्य रूप से निर्यातित होती है| वर्तनाम में जौनपुर का कालीन उद्योग करीब 3500 लोगों को रोजगार मुहैया करा रहा है, तथा कालीन ही जौनपुर के मुख्य निर्यातित सामान है|

RECENT POST

  • हमारे देश के गणतंत्र दिवस से जुड़ी कुछ रोचक बातें
    आधुनिक राज्य: 1947 से अब तक

     26-01-2020 11:00 AM


  • ब्रोकली में भी पाए जा सकते हैं कुछ गणितीय गुण
    विचार 2 दर्शनशास्त्र, गणित व दवा

     25-01-2020 10:00 AM


  • दरियां हैं हर घर के सौन्दर्य का हिस्सा
    घर- आन्तरिक साज सज्जा, कुर्सियाँ तथा दरियाँ

     24-01-2020 10:00 AM


  • अत्यंत प्रतिकूल वातावरण में भी वृद्धि करते हैं ऍक्स्ट्रीमोफ़ाइल
    निवास स्थान

     23-01-2020 10:00 AM


  • कैसे किया जाता है ईंट का निर्माण
    खनिज

     22-01-2020 10:00 AM


  • मेसोपोटामिया और सिन्धु घाटी सभ्यता के बीच व्यापार संबंध
    सभ्यताः 10000 ईसापूर्व से 2000 ईसापूर्व

     21-01-2020 10:00 AM


  • क्या आत्मजागरूक होते हैं, रीसस मकाक (Rhesus macaque) बन्दर?
    स्तनधारी

     20-01-2020 10:00 AM


  • जापानी फिल्म संस्कृति की झलक प्रदर्शित करती प्रमुख फिल्में
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     19-01-2020 10:00 AM


  • स्वास्थ्य व पर्यावरण समस्याओं से निपटने में सहायक सिद्ध हो सकती है कॉकरोच फार्मिंग
    तितलियाँ व कीड़े

     18-01-2020 10:00 AM


  • जौनपुर में प्रचलित है शीतला माता की पूजा
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     17-01-2020 10:00 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.