कई जानकारियां प्राप्त हो सकती हैं एक डीएनए परीक्षण से

जौनपुर

 16-09-2019 01:27 PM
डीएनए

डीएनए (डिऑक्सीराइबो न्यूक्लिक एसिड - DNA) संसार के प्रत्येक जीव में पाया जाने वाला आनुवांशिक पदार्थ है जो न्यूक्लियोटाइड (Nucleotide) की श्रृंखला से मिलकर बना होता है। यह एक ऐसा पदार्थ है जिसमें जीवों के गुणों को निर्धारित करने की क्षमता निहित होती है। इसके द्वारा निर्धारित आनुवांशिक गुण एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी में संचारित होते हैं। वर्तमान में डीएनए के माध्यम से जीवों की कोशिकाओं में उपस्थित कई जानकारियों का पता लगाया जा सकता है जोकि डीएनए परीक्षण या आनुवांशिक परीक्षण प्रक्रिया के माध्यम से सम्पन्न की जाती है। इस परीक्षण में गुणसूत्रों या जीन (Gene) में हो रहे बदलावों की पहचान की जाती है। आज के समय में यह परीक्षण बहुत लाभकारी सिद्ध हो रहा है क्योंकि इसका उपयोग विभिन्न सामाजिक और भावनात्मक मामलों में किया जा सकता है जिसके परिणाम बहुत सटीक होते हैं। इस परीक्षण को निम्नलिखित जानकारियों का पता लगाने के लिए उपयोग किया जाता है:

वंश के लिए डीएनए परीक्षण: यह डीएनए परीक्षण आपको बता सकता है कि आपके पूर्वजों की उत्पत्ति कहां हुई? इससे आप अपने परिवार के मूल की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इतना ही नहीं यह आपको परिवार की विरासत और रीति-रिवाज़ों के बारे में भी जानकारी उपलब्ध कराने में सक्षम है।

वज़न और त्वचा के लिए डीएनए परीक्षण: स्किनकेयर (Skincare) डीएनए परीक्षण की मदद से आप अपनी त्वचा की कोलेजन (Collagen) गुणवत्ता तथा एंटीऑक्सिडेंट (Antioxidants) स्तर की सही जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। प्राप्त जानकारी त्वचा की देखभाल के लिए प्रभावी स्किनकेयर उत्पादों के निर्धारण में सहायता प्रदान करती है। इसके अतिरिक्त डीएनए परीक्षण आपको अपने आदर्श स्वस्थ वज़न तक पहुंचने में मदद करने के लिए व्यायाम और भोजन के प्रति आपकी आनुवंशिक प्रतिक्रिया के बारे में व्यापक और विस्तृत जानकारी दे सकता है।

पशुओं के लिए डीएनए परीक्षण: पशुओं के लिए डीएनए परीक्षण उनकी आनुवांशिक पृष्ठभूमि की जानकारी देता है। जैसे कुत्तों के डीएनए परीक्षण से उनकी नस्ल के बारे में पता लगाया जा सकता है।

डीएनए परीक्षण बहुत ही लाभकारी परीक्षण है जो किसी व्यक्ति के वंश की पुष्टि कर पाने में सक्षम है। यह परीक्षण आपको बताता है कि आप कौन हैं या दूसरों से आपका जैविक संबंध क्या है? इसके अतिरिक्त यह व्यक्ति के आनुवांशिक रोगों की पहचान करने में भी सहायक है। यदि परीक्षण नकारात्मक प्राप्त हो तो व्यक्ति भिन्न प्रकार के रोग परीक्षणों से बच जाता है। सकारात्मक परिणाम प्राप्त होने की अवस्था में यह परीक्षण व्यक्ति को रोग की रोकथाम और प्रभावी उपचार के विकल्पों की ओर निर्देशित कर सकता है। मुख्य रूप से यह परीक्षण तीन प्रकार के हैं जो निम्नलिखित हैं:

ऑटोसोमल (Autosomal) गुणसूत्र परीक्षण : ऑटोसोमल परीक्षण 22 गुणसूत्रों तथा X गुणसूत्र पर केंद्रित होता है। इसमें लिंग निर्धारण करने वाले Y गुणसूत्र का परीक्षण नहीं किया जाता है। परीक्षण किये जाने वाले X गुणसूत्र एक विशेष वंशानुक्रम का अनुसरण करते हैं।

Y-डीएनए परीक्षण : इस परीक्षण में Y गुणसूत्र की ओर ध्यान केन्द्रित किया जाता है। इस परीक्षण का उपयोग केवल पुरुषों द्वारा उनकी प्रत्यक्ष पैतृक पीढ़ी का पता लगाने के लिए किया जा सकता है।

mtDNA परीक्षण : यह परीक्षण माइटोकॉन्ड्रिया (Mitochondria) में उपस्थित डीएनए पर केंद्रित होता है।

डीएनए परीक्षण के लिए पहले खून के नमूने लिए जाते थे किंतु अब परीक्षण व्यक्ति की लार, बाल, नाखून इत्यादि के नमूनों से ही प्राप्त कर लिया जाता है। इस परीक्षण के परिणामों की अवधि 24 घंटे या आठ सप्ताह तक हो सकती है। वर्तमान में डीएनए परीक्षण के लिए कई सामान्य संसाधन या होम टेस्ट किट (Home test kit) जैसे- FTDNA, AncestryDNA और 23andme आदि इंटरनेट पर उपलब्ध हैं जो डीएनए परीक्षण में हमारी मदद कर सकते हैं तथा परिणामों की जानकारी केवल हम तक ही सीमित रखते हैं।

संदर्भ:
1.
https://homedna।com/blog/what-you-can-learn-from-dna-tests
2. https://en।wikipedia।org/wiki/Genealogical_DNA_test
3. https://ghr।nlm।nih।gov/primer/testing/benefits
4. https://bit.ly/2kCY6dd



RECENT POST

  • दैनिक जीवन सहित इंटीरियर डिजाइन में रंगों और रोशनी की भूमिका
    घर- आन्तरिक साज सज्जा, कुर्सियाँ तथा दरियाँ

     19-01-2022 11:10 AM


  • पानी के बाहर भी लंबे समय तक जीवित रह सकती हैं, उभयचर मछलियां
    मछलियाँ व उभयचर

     17-01-2022 10:52 AM


  • हिन्दू देवता अचलनाथ का पूर्वी एशियाई बौद्ध धर्म में महत्व
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     17-01-2022 05:39 AM


  • साहसिक गतिविधियों में रूचि लेने वाले लोगों के बीच लोकप्रिय हो रही है माउंटेन बाइकिंग
    हथियार व खिलौने

     16-01-2022 12:50 PM


  • शैक्षणिक जगत में जौनपुर की शान, तिलक धारी सिंह महाविद्यालय
    सिद्धान्त 2 व्यक्ति की पहचान

     15-01-2022 06:28 AM


  • लोकप्रिय पर्व लोहड़ी से जुड़ी लोकगाथाएं एवं महत्व
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     14-01-2022 02:47 PM


  • अनुचित प्रबंधन के कारण खराब हो रहा है जौनपुर क्रय केन्द्रों पर रखा गया धान
    साग-सब्जियाँ

     13-01-2022 07:02 AM


  • प्राचीन काल से ही कवक का औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है
    फंफूद, कुकुरमुत्ता

     12-01-2022 03:29 PM


  • लिथियम भंडारण की कतार में कहां खड़ा है भारत
    खनिज

     11-01-2022 11:29 AM


  • व्यंजन की सफलता के लिए स्वाद के साथ उसका शानदार प्रस्तुतीकरण भी है,आवश्यक
    स्वाद- खाद्य का इतिहास

     10-01-2022 07:01 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id