जौनपुर में व्यवसाय

जौनपुर

 03-04-2017 12:00 AM
नगरीकरण- शहर व शक्ति
व्यक्तियों की मूलभूत ज़रूरतों का निर्वहन होना प्रत्येक देश की आर्थिक अवस्था को प्रदर्शित करता है। रोजगार व जीवनयापन के आँकड़ों को समझने के लिये गाँवों व शहरों का अध्ययन महत्वपूर्ण है। जौनपुर जिले कि पूरी जनसंख्या का 32% भाग किसी ना किसी प्रकार के रोजगार से लाभान्वित है तथा बाकी कि बची 68% की जनसंख्या मे बच्चे, बुज़ुर्ग, या बेरोजगार शामिल हैं। जिले में कृषी रोजगार का मुख्य साधन है जिसे कि करीब 9 लाख लोग करते हैं, बाकी के बचे रोजगार के साधनो मे सरकारी व गैर सरकारी नौकरियाँ, लघु व वृहद उद्योग सम्मिलित हैं, जिनमे कालीन व्यापार, चमड़ा व्यापार, लकड़ी का काम, लोहे का काम, तथा सरकारी नौकरियाँ जिले मे कृषी व्यवसाय के बाद मुख्य हैं।

RECENT POST

  • जनसँख्या वृद्धि नियंत्रण में महिलाओं का योगदान
    व्यवहारिक

     26-06-2019 12:19 PM


  • हाथीदांत पर प्रतिबंध लगने के बाद हुई ऊँट की हड्डी लोकप्रिय, परन्तु अब ऊँट भी लुप्तप्राय
    स्तनधारी

     25-06-2019 11:10 AM


  • भारतीय डाक और भारतीय स्टेट बैंक में नौकरी पाने के लिए युवाओं ने क्यों लगाई है होड़?
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     24-06-2019 12:02 PM


  • अन्तराष्ट्रीय एकदिवसीय क्रिकेट में भारतीयों ने जड़े हैं पांच दोहरे शतक
    हथियार व खिलौने

     23-06-2019 09:00 AM


  • भारत के पांच अद्भुत जंतर मंतर में से एक है हमारे जौनपुर के पास
    सिद्धान्त I-अवधारणा माप उपकरण (कागज/घड़ी)

     22-06-2019 11:27 AM


  • प्राणायाम और पतंजलि योग के 8 चरण
    य़ातायात और व्यायाम व व्यायामशाला

     21-06-2019 10:16 AM


  • जौनपुर के पुल पर आधारित किपलिंग की कविता ‘अकबर का पुल’
    ध्वनि 2- भाषायें

     20-06-2019 11:15 AM


  • डेनिम जींस का इतिहास एवं भारत से इसका सम्बन्ध
    स्पर्शः रचना व कपड़े

     19-06-2019 11:02 AM


  • क्या हैं नैनो प्रौद्योगिकी वस्त्र?
    स्पर्शः रचना व कपड़े

     18-06-2019 11:02 AM


  • क्या प्रवासी पक्षी रात में भी भरते हैं उड़ान?
    पंछीयाँ

     17-06-2019 11:49 AM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.