विभिन्‍न शारीरिक दर्दों से जूझता किसान

जौनपुर

 14-08-2018 02:04 PM
शारीरिक

जौनपुर की अर्थव्यवस्था मुख्य रूप से कृषि पर आधारित है क्योंकि खेती इस जिले में सबसे महत्वपूर्ण व्यवसायों में से एक है। हम सभी को पहले से ही विदित है कि कृषि श्रम पर आधारित एक व्यवसाय है जिसमें कड़ी मेहनत की आवश्यकता होती है। इसको करने के लिये श्रमिक को शारीरिक रूप से स्वस्थ होना आत्याधिक आवश्यक है। हालांकि अध्ययनों से ज्ञात होता है कि खेतों के काम की प्रकृति के कारण, कृषि श्रमिकों को बड़ी संख्या में अन्य स्वास्थ्य समस्याओं के अलावा, मस्कुलोस्केलेटल विकार (Musculoskeletal Disorder: ऐसी स्थितियां जो आपकी मांसपेशियों, हड्डियों और जोड़ों को प्रभावित कर सकती हैं) होने का खतरा बना रहता है। विशेष रूप से पीठ दर्द की समस्‍या अधिकतर कृषि श्रमिकों में देखी जा सकती है। कुछ मामलों में, ये दर्द बेचैनी का कारण बनता है, जो आपकी रोज़मर्रा की गतिविधियों में बाधा डालता है।

मानव शरीर की रचना में 'रीढ़ की हड्डी' (Spine) पीठ की हड्डियों का समूह है, जो मस्तिष्क के पिछले भाग से निकलकर गुदा के पास तक होती है। इसमें 33 खण्ड (Vertebrae) होते हैं। मेरुदण्ड के भीतर ही मेरूनाल (Spinal Canal) में मेरूरज्जु (Spinal Cord) सुरक्षित रहता है। रीढ़ की हड्डी में दर्द पीठ में होनेवाला वह दर्द है, जो आम तौर पर मांसपेशियों, तंत्रिका, हड्डियों, जोड़ों या रीढ़ की अन्य संरचनाओं में महसूस किया जाता है। जब रीढ़ की हड्डी में चोट लगती है, तो अक्सर नुकसान अंतरा मेरूदंड डिस्क (Spinal Disc) को पहुंचता है। जब डिस्क क्षतिग्रस्त हो जाती है, परिणामी दर्द और आघात गंभीर हो जाता है। काम करने वाले किसानों को विभिन्न संभावित खतरनाक स्थितियों जैसे अत्यधिक झुकाव, गलत आसन, ऐंठन, घुटनों पर बैठना, परिवहन और उपकरणों का कंपन, आदि का सामना करना पड़ता हैं। ये सभी विभिन्न पीठ दर्द से जुड़े पूर्ववर्ती जोखिम कारक हैं।

पीठ के दर्द को कम करने के लिए कई उपाय किए जा सकते हैं, जैसे: गलत स्थिति में तथा लंबे समय तक खड़े होकर काम ना करें, एड़ियों के समर्थन के लिये और पीठ दर्द को कम करने के लिए उच्च गुणवत्ता वाले सोल के साथ जूते पहनें, नियमित रूप से व्यायाम और खिंचाव से आपकी हड्डियों, जोड़ों और मांसपेशियों को मजबूत रखने में मदद मिलती है, रोज़गार गतिविधियों को सुरक्षित तरीके से पूरा करना भी महत्वपूर्ण है। पीठ दर्द को रोकने के लिए एक लंबा आसन बनाए रखें, भारी वस्तुएं उठाते समय सावधान रहें, और अपनी ताकत और गति की सीमा बनाए रखें। अपने चिकित्सक से अधिक जानकारी के लिए पूछें कि आप कैसे रीढ़ की हड्डी स्वस्थ बनाए रख सकते हैं और इसके दर्द के जोखिम को किस प्रकार कम कर सकते हैं।

सन्दर्भ:
1. https://www.youtube.com/watch?v=zt2MN-RgDAk
2. https://pdfs.semanticscholar.org/8048/93bca255eac574d24b11c5dbfc1a1ed07a1f.pdf
3. https://ohioline.osu.edu/factsheet/AEX-982.7
4. http://www.agrability.org/wp-content/uploads/2015/11/ps26.pdf



RECENT POST

  • भारतीय जैविक कृषि से प्रेरित, अमरीका में विकसित हुआ लुई ब्रोमफील्ड का मालाबार फार्म
    भूमि प्रकार (खेतिहर व बंजर)

     20-05-2022 09:57 AM


  • क्या शहरों की वृद्धि से देश के आर्थिक विकास में भी वृद्धि होती है?
    नगरीकरण- शहर व शक्ति

     19-05-2022 09:49 AM


  • मिट्टी से जुड़ी हैं, भारतीय संस्कृति की जड़ें, क्या संदर्भित करते हैं मिट्टी के बर्तन या कुंभ?
    म्रिदभाण्ड से काँच व आभूषण

     18-05-2022 08:49 AM


  • भगवान बुद्ध के जीवन की कथाएँ, सांसारिक दुःख से मुक्ति के लिए चार आर्य सत्य
    विचार I - धर्म (मिथक / अनुष्ठान)

     17-05-2022 09:53 AM


  • आधुनिक युग में संस्कृत की ओर बढ़ती जागरूकता और महत्व
    ध्वनि 2- भाषायें

     17-05-2022 02:09 AM


  • पर्यावरण की सफाई में गिद्धों की भूमिका
    व्यवहारिक

     15-05-2022 03:40 PM


  • मानव हस्तक्षेप के संकटों से गिरती भारतीय कीटों की आबादी, हमें जागरूक होना है आवश्यक
    तितलियाँ व कीड़े

     14-05-2022 10:13 AM


  • गर्मियों में नदियां ही बन जाती हैं मुफ्त का स्विमिंग पूल, स्थिति हमारी गोमती की
    नदियाँ

     13-05-2022 09:33 AM


  • तापमान वृद्धि से घटते काम करने के घण्‍टे, सबसे बुरी तरह प्रभावित होने वाला क्षेत्र है कृषि
    जलवायु व ऋतु

     11-05-2022 09:11 PM


  • भारतीय नाटककार, प्रताप शर्मा द्वारा बड़े पर्दे पर प्रदर्शित मेरठ की शक्तिशाली बेगम समरू का इतिहास
    द्रिश्य 2- अभिनय कला

     11-05-2022 12:13 PM






  • © - 2017 All content on this website, such as text, graphics, logos, button icons, software, images and its selection, arrangement, presentation & overall design, is the property of Indoeuropeans India Pvt. Ltd. and protected by international copyright laws.

    login_user_id